TOLL FREE NO. 18001025030

Director’s Desk

प्रिय भाइयों एवं बहनों,

 

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत प्रदेश की लगभग सोलह करोड़ ग्रामीण आबादी को पेयजल की सुविधायें उपलब्ध कराने का दायित्व सरकार का है। ग्राम्य विकास विभाग, उ0प्र0, के अधीन गठित राज्य पेयजल एवं स्वच्छता मिशन द्वारा इस दायित्व का निर्वहन किया जा रहा है।

 

इस कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्रामीण अंचलों में पाइप पेयजल योजनाओं से समुदाय को लाभान्वित किया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि अधिक से अधिक संख्या में ग्रामवासियों को अपने घरों के भीतर ही नल से पानी उपलब्ध हो सके। इस प्रयास के दृष्टिगत बेहतर पाइप पेयजल योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है तथा समुदाय को निजी कनेक्शन हेतु प्रेरित किया जा रहा है।

 

ग्रामीण पेयजल योजनाओं में समुदाय की अहम् भूमिका के दृष्टिगत जल से सम्बन्धित पहलुओं जैसे-जलगुणता, दूषित जल से होने वाली बीमारियां, जल का उचित प्रबन्धन, जलसंचयन, भूगर्भ जलसरंक्षण एवं निर्मित पेयजल परिसम्पत्तियों जैसे टंकियां, पाइप लाइन के रखरखाव से सम्बन्धित जानकारियां दी जा रही हैं।

 

मिशन के अधीन समस्त यूनिटस व जिला पेयजल एवं स्वच्छता समिति द्वारा यद्यपि पूरी पारदर्शिता से अपने दायित्वों एवं कार्यो का निर्वाह किया जा रहा है तथापि पेयजल एक सामुदायिक मुद्दा होने के कारण उससे सम्बन्धी पहलुओं जैसे-आर्सेनिक, फलोराइड, ए0ई0एस0/जे0ई0 प्राकृतिक आपदा आदि चुनौतियों का सामना हम सबको मिलकर करना है। इस क्रम में आपके सुझाव सदैव ही आमंत्रित है। इस हेतु विभाग की वेबसाइट www.swsmup.org अथवा टोल फ्री नम्बर 18001025030 पर अपने सुझाव/ शिकायतें भेज सकते हैं।

 

पाइप पेयजल योजनाओं के माध्यम से प्रदेश को शुद्ध एवं सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराने के उददेश्य में आपकी सहभागिता से हम अपने दायित्वों का निर्वहन और अधिक प्रभावी रूप से कर पायेंगे।

 

शुभकामनाएं,
श्रीश चंद्र वर्मा
अधिशासी निदेशक